amar-jyoti_650x400_41516940105asean_650x400_41516940589asean_650x400_41516941010asean_650x400_61516940658asean_650x400_61516940944asean_650x400_7151694060769वें गणतंत्र दिवस का जश्न, 10 देशों के नेता समारोह में मौजूद
राष्ट्रपति भवन से असियान देशों के नेता समारोह स्थल पहुंचना शुरू हो गया है. गणतंत्र दिवस परेड में सेना के जवान मार्च पास्ट निकालेंगे और उनके हाथ में आसियान का झंडा भी होगा.
नई दिल्ली: भारत का 69वां गणतंत्र दिवस समारोह शुरू हो चुका है. राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद ने तिरंगा फहराया और राष्ट्रगान के साथ सलामी ली. कार्यक्रम में पीएम मोदी, केंद्रीय मंत्री, लालकृष्ण आडवाणी, बीजेपी अध्यक्ष अमित शाह और कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी सहित सहित कई बड़े नेता मौजूद हैं. तिरंगे की सलामी के बाद राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद ने वीरता पुरस्कार बांटे. इससे पहले प्रधानमंत्री मोदी ने 9.30 बजे अमर ज्योति जवान पर शहीदों को श्रद्धांजलि दी थी. आज परेड में कई राज्यों, मंत्रालयों, आकाशवाणी और अन्य समेत 23 झांकियां राजपथ की शान बढ़ाएंगी. आसियान देशों में थाइलैंड, वियतनाम, इंडोनेशिया, मलेशिया, फिलीपीन, सिंगापुर, म्यामांर, कंबोडिया, लाओस और ब्रूनेई शामिल हैं. यहां भारत-आसियान सम्मेलन में शामिल होने आये आसियान देशों के नेता गणतंत्र दिवस परेड में मुख्य अतिथि होंगे. पहली बार इस परेड में बीएसएफ की महिला जवानों की मोटरसाइकिल सवार टुकड़ी करतब दिखाएगी. पीएम मोदी ने किया आसियान देशों के नेताओं का स्वागत
क्या है आसियान, कहां हुआ था देश की पहली गणतंत्र दिवस परेड का आयोजन? आइए जानें…
आसियान यानी दक्षिण पूर्वी एशियाई देशों के संगठन जिसे दक्षिण पूर्वी एशियाई देशों के साथ मिलकर बनाया गया है. इस संगठन का उद्देश्य सभी 10 देशों के बीच आर्थिक साझेदारी, व्यापार में बढ़ावा देना है. इसके साथ ही क्षेत्र में शांति और स्थिरता कायम करना है. इस संगठन का मुख्यालय इंडोनेशिया की राजधानी जकार्ता में है. इस बार असियान देशों के नेता भारत के 69वें गणतंत्र दिवस समारोह में मुख्य अतिथि हैं. इसको भारत की बेहतरीन विदेश नीति का हिस्सा माना जा रहा है.

Advertisements